संदेश

      किसी भी राष्ट्र का विकास उसके नागरिकों के राष्ट्र के प्रति समर्पित सृजनात्मक योगदान से होता है I प्रत्येक नागरिक को राष्ट्रीय अस्मिता एवं सरोकारों से परिचित कराने में शिक्षा महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है I राष्ट्र के चहुंमुखी विकास के लिए राष्ट्र का कोई भी छेत्र शिक्षा के प्रकाश से अछूता नहीं रहना चाहिए I

      इसी ध्येय को धारण कर बदायूँ में नेरु मेमोरियल शिवनारायण दास स्नातकोत्तर महाविद्यालय की स्थापना की गई थी I अपने स्थापना काल से महाविद्यालय 51 वर्षों की शैक्षिक यात्रा पूर्ण कर चूका है तथा बदायूँ जनपद में अग्रणी शिक्षा संस्थान होने के कारण गुणवत्ता परक शिक्षा प्रदान करने हेतु प्रतिबद्ध I

      बदायूँ की उर्वरा धरा ने विश्व को साहित्य, संस्कृति एवं कला के छेत्र में अनेक विराट व्यक्तित्व प्रदान किये हैं I देश की गंगा जमुनी संस्कृति का प्रतिनिधित्व करते हुए बदायूँ वैदिक एवं पौराणिक संस्कृति का वाहक रहा है I इसी परम्परा का निर्वाह करते हुए महाविद्यालय छात्र - छात्राओं में राष्ट्र एवं सांस्कृतिक चेतना के भाव प्रबल करने हेतु प्रयासरत है I

      महाविद्यालय का शैक्षिक एवं शिक्षणेतर परिवार अपने दृढ़ संकल्पों से महाविद्यालय को उत्तम शैक्षिक एवं अनुशासनिक वातावरण प्रदान करने में समर्थ है I मुझे आशा ही नहीं, अपितु पूर्ण विश्वास है कि महाविद्यालय छात्र/छात्राओं में शारीरिक, शैक्षिक, सामाजिक एवं चरित्र निर्माण से जुड़े सभी नूल्यों का विकास करेगा I

      नए सत्र के प्रारम्भ में मैं सभी छात्र - छात्राओं का ह्रदय से स्वागत करते हुए उनके शैक्षिक, सामाजिक एवं राष्ट्रीय मूल्यों के उन्नयन की कामना करता हूँ I

                                                                                                                                                                            मोहित आनन्द

                                                                                                                                                                                      सचिव

                                                                                                                                                                                  प्रबंध समिति

 

 

                                                                                             Message from Secretary's Desk

 

 

          My privilege to welcome you to Dass College & invite you to explore the multidimensional facets of this college. I believe you will gain an insight about what makes this college among the most prestigious& oldest college in Budaun District.

       

        With the support of highly qualified faculty members & excellent infrastucture I hope we shall be able to continue to add to the intellectual & professional development of the country.

 

        The college is committed to equity & promoting talent without any prejudice.

 

        I strongly believe like me, you would also love to enjoy the proud privilege to becoming a part of this college which has witnessed 50 glorious years of its existence.

 

        Best wishes for your glorious & bright future.

 

                                                                                                                                                                                      Mohit Anand

Website designed by WEB EYE MASTER